अगरबत्ती बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें | Start Agarbatti Manufacturing Business

agarbatti banane ka business kaise karen

Agarbatti Manufacturing Business Idea: भारतीय संस्कृति में अगरबत्ती का बहुत महत्व है। भारत में सभी धर्म पूजा-पाठ में अगरबत्ती का उपयोग करते हैं। अगरबत्ती की प्राकृतिक खुशबू मूड को बेहतर बनाने और दिमाग को एकाग्र करने में मदद करती है।

ख़ासतौर से हिंदू धर्म में अगरबत्ती का विशेष महत्व है — सभी प्रकार के धार्मिक अनुष्ठानों में इसका उपयोग किया जाता है। माना जाता है कि अगरबत्ती की सुगंध में हीलिंग शक्तियां होती हैं जो स्वाभाविक रूप से सुखदायक और शांत होती हैं, जिससे मनुष्य की एकाग्रता बढ़ जाती है।

अगर आप एक ऐसे व्यवसाय की तलाश में है जो कि 20,000 से लेकर 1 लाख रुपए तक का निवेश कर किया जा सके और निर्माण प्रक्रिया भी सरल हो, तो आपको अगरबत्ती का व्यवसाय शुरू करना चाहिए।

आज अगरबत्ती का उद्योग भारत और चीन में अत्यधिक प्रतिस्पर्धी क्षेत्रों में से एक है, वैश्विक अगरबत्ती उद्योग में दोनों देशों का एक बड़ा हिस्सा है। करीब 90 से अधिक विदेशी देश इन अगरबत्तियों का इस्तेमाल करते हैं, इसलिए इनकी मांग हमेशा रहती है। हालांकि, भारतीय बाजार में कुछ प्रमुख ब्रांडों का कब्जा है, फिर भी इस व्यवसाय में लोकल ब्रांड के लिए भी बहुत सारे अवसर हैं। अगरबत्ती की मांग बाजार में साल भर रहती है और त्योहारों में तो इनकी बिक्री में भारी मात्रा में इज़ाफ़ा होता है।

इस आर्टिकल के द्वारा हम आपको बताने जा रहे हैं कि अगरबत्ती निर्माण इकाई कैसे शुरू करें, व्यवसाय शुरू करने के कितना निवेश करना पड़ेगा, कच्चे माल और मशीनों का विवरण, व्यवसाय शुरू करने के लिए स्थान, और कैसे आप इस छोटे से व्यवसाय से बड़ा लाभ कमा सकते हैं। चलिए देखते हैं:

अगरबत्ती व्यवसाय का पंजीकरण (Registering your Agarbatti Business)

इस व्यवसाय को आप MSME के तहत रजिस्टर करवा सकते हैं, इसके लिए आपको Udyam Registration ऑनलाइन पोर्टल पर जाना होगा जहां पर इस उद्योग का पंजीकरण करवा सकते हैं। इसके बाद आपको एक परमानेंट रजिस्ट्रेशन नंबर मिलेगा जिसमे आपके व्यवसाय की सारी जानकारियां अंकित होंगी।

व्यवसाय के रजिस्ट्रेशन के लिए आपके पास कुछ बुनियादी दस्तावेजों जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड और बैंक खाता संख्या होनी चाहिए। यह प्रक्रिया पूरी तरह से नि:शुल्क है, और कोई पैसा नहीं लगता।

व्यवसाय के आकार के अनुसार आपको अपना व्यवसाय या तो एकल स्वामित्व, LLC, एक सार्वजनिक या निजी कंपनी के रूप में रजिस्टर करना चाहिए।

अगरबत्ती व्यवसाय शुरू करने के लिए लाइसेंस और परमिट (Licenses and Permits to Start Agarbatti Business)

अगरबत्ती का व्यवसाय शुरू करने के लिए आपके पास कुछ लाइसेंस और परमिट चाहिए होंगे, और वे आपकी निर्माण प्रक्रिया के पैमाने के आधार पर अलग-अलग होंगे। यह कुछ मुख्य लाइसेंस और परमिट की लिस्ट है जिनकी आपको ज़रूरत पड़ सकती है:

  • जीएसटी पंजीकरण
  • ट्रेड लाइसेंस
  • प्रदूषण प्रमाण पत्र
  • उद्यम रजिस्ट्रेशन
  • ईएसआई पंजीकरण (अगर आपके पास 10 कर्मचारी से अधिक है)
  • पीएफ पंजीकरण (यदि आपके पास 20 कर्मचारी से अधिक हैं)
  • फैक्ट्री लाइसेंस (यदि आप एक बड़े पैमाने पर फैक्ट्री लगा रहे हैं)

अगरबत्ती निर्माण इकाई की स्थापना (Agarbatti Manufacturing Unit Setup)

अगर आप छोटे स्तर पर अगरबत्ती का उत्पादन कर रहे हैं तो आप इस व्यवसाय को अपने घर से ही शुरू कर सकते हैं। घर से अगरबत्ती निर्माण करने के लिए, आपको 100-150 sq. ft. की जगह और 240V बिजली आपूर्ति की आवश्यकता पड़ेगी। इतनी जगह में आप आसानी से एक या दो मशीनों को लगा सकते है और कच्चा माल का भण्डारण भी कर सकते है। इसमें आपका कुल खर्च 1 लाख रुपए तक हो सकता है।

मगर, एक नकारात्मक पहलू यह है की घर पर आप इससे ज़्यादा मशीन नहीं लगा सकते और और छोटी सी जगह पर ज़्यादा कच्चा माल रखने में भी परेशानी आ सकती है।

इसके विपरीत यदि आपकी आवश्यकता अधिक है, तो आपको एक बड़ी निर्माण इकाई की आवश्यकता पड़ेगी। बड़े पैमाने पर प्लांट लगाने के लिए आपको लगभग 1000 sq. ft. की जगह और 3-फेज बिजली आपूर्ति की ज़रूरत होगी। इस प्रकार की बड़ी इकाई में आप आराम से 5-7 अगरबत्ती मशीन इंस्टॉल कर सकते हैं, साथ ही में कच्चा माल रखने और बना हुआ माल सुखाने के लिए भी पर्याप्त जगह होगी। इस तरह की मैन्युफैक्चरिंग इकाई बनाने के लिए कुल बजट 10 लाख से अधिक रखना होगा।

अगरबत्ती बनाने की मशीन कितने में मिलेगी (Agarbatti Making Machine Price)

agarbatti making machine

अगरबत्ती बनाने की मशीन तीन प्रकार की होती है: मैनुअल, ऑटोमेटिक और हाई-स्पीड ऑटोमेटिक मशीन।

हम आपको सुझाव देंगे की आप आटोमेटिक मशीन से ही शुरुआत करें, क्यूंकि इसमें ज़्यादा तामझाम नहीं होता और माल भी जल्दी बनकर निकलता है। हालाँकि, अगरबत्ती को आप मैनुअल मशीन की सहायता से भी बना सकते हैं, इस प्रकार की मशीनों को पैडल मशीन कहा जाता है। लेकिन यह मशीन समय बहुत लेती है और ऑटोमेटिक मशीन की तुलना में आउटपुट भी काफी कम होता है।

प्रमुख अगरबत्ती बनाने की मशीन (Agarbatti Making Machine): एक मैनुअल पेडल टाइप अगरबत्ती मशीन की कीमत 13000 रुपए से शुरू होती है, इसे चलाने के लिए बिजली की ज़रूरत नहीं होती। इस मशीन को हाथों की सहायता से चलाया जाता है। यह मशीन 8 घंटे में 10 किलोग्राम तक अगरबत्ती का उत्पादन कर सकती है।

वहीं एक ऑटोमेटिक अगरबत्ती बनाने की मशीन की कीमत 60,000 रु से शुरू होती है और 1,50,000 रु तक जाती है, यह मशीन प्रति घंटे 10 किलो अगरबत्ती का उत्पादन कर सकती है, मतलब 8 घंटे में 80 किलोग्राम अगरबत्ती उत्पादन। इस मशीन को चलाने के लिए एक ऑपरेटर की आवश्यकता पड़ती है।

अगरबत्ती पाउडर मिक्सिंग मशीन (Agarbatti Powder Mixing Machine): इसके साथ ही आपको एक मिक्सर मशीन की भी ज़रूरत पड़ेगी, जिससे आप कच्चा माल मिला सकेंगे। इसकी कीमत 15000 रूपए से शुरू होती है। यदि, आपके पास सिर्फ एक अगरबत्ती बनाने की मशीन है तो ये काम आप अपने हाथों से कर सकते हैं मगर एक से ज़्यादा मशीन होने पर मिक्सर मशीन की आवश्यकता पड़ेगी।

अगरबत्ती ड्रायर मशीन (Agarbatti Dryer Machine): इसके अलावा बने हुए माल को सुखाने के ड्रायर मशीन की ज़रूरत पड़ती है, जिसकी कीमत 10,000 रूपए से शुरू होती है। यदि आप घरेलू रूप से अगरबत्ती का उत्पादन कर रहें है तो बने हुए माल को धूप में भी सूखा सकते है, अगर आपको जल्दी रिजल्ट चाहिए तो ड्रायर मशीन एक अच्छा विकल्प है।

अगरबत्ती बनाने की ट्रेनिंग कहाँ से ले? (Where to get Agarbatti Making Training)

आप जिस कंपनी से मशीन खरीद रहें है, उनके सर्विस तकनीशियन इंस्टॉलेशन के समय आपको किस तरह से अगरबत्ती बनती है इसकी पूरी जानकारी दे देंगे।

अगरबत्ती मेकिंग मशीन कहां से खरीदें (Where to buy Agarbatti Making Machines)

इस मशीन को खरीदने के लिए नीचे दिए इस लिंक पर क्लिक करे।

अगरबत्ती निर्माण में लगने वाला कच्चा माल (Raw Materials required for Agarbatti Manufacturing)

चलिए उन कच्चे सामग्रियों की सूची देखें, जिनकी आवश्यकता एक छोटे से मध्यम स्तर की अगरबत्ती बनाने वाली इकाई को ज़रूरत पड़ेगी:

  • प्रीमिक्स पाउडर
  • अगरबत्ती परफ्यूम
  • बांस की छड़ें
  • सुगन्धित तेल
  • कलर पाउडर
  • पैकिंग के लिए प्लास्टिक और कार्डबोर्ड बॉक्स

अगरबत्ती बनाने की प्रक्रिया (Agarbatti manufacturing process)

चलिए देखते हैं 1 किलो अगरबत्ती निर्माण की प्रक्रिया:

1. सबसे पहले प्री-मिक्स पाउडर तैयार करें — यहाँ हम 1 किलोग्राम मसाला बना रहे हैं इसलिए हमें 600 ग्राम चारकोल पाउडर या चन्दन पाउडर, 300 ग्राम लकड़ी का पाउडर, जिगत पाउडर 60 ग्राम और 40 ग्राम गुआर गोंद पाउडर लेंगे। यदि आप पहले से सब कुछ मिला हुआ प्री-मिक्स पाउडर लेना चाहते हैं तो बाजार में यह भी आसानी से उपलब्ध है।

2. इस प्रक्रिया के बाद, प्री-मिक्स पाउडर में लगभग 450 ml पानी डाला जाता है, और फिर एक मिक्सिंग मशीन के द्वारा 20 मिनट के लिए मिलाया जाता है।

3. इसके बाद प्री-मिक्स पाउडर और बांस की छड़ियों को अगरबत्ती बनाने की मशीन में लोड किया जाता है।

4. इतना करने के बाद अगरबत्ती मशीन को चालू करें और यह तुरंत अगरबत्ती की छड़ें बनाना शुरू कर देता है।

5. अब अगरबत्ती को सुखाने की जरूरत है, आप इसे या तो अगरबत्ती ड्रायर मशीन की सहायता से सूखा सकते हैं या फिर सीधे धूप में भी रख सकते हैं।

6. एक बार अगरबत्ती के अच्छी तरह सूखने के बाद उन पर सुगन्धित तेल या फिर इत्र लगाए और फिर से एक बार सूखने के लिए हवा में रखें।

7. आखिर में, अगरबत्ती का एक गुच्छा बनाएं और पैक कर सप्लाई शुरू करें।

अगरबत्ती व्यवसाय में मुनाफा (Profit in Agarbatti Business)

अगरबत्ती बनाने के व्यवसाय में लाभ के बहुत सारे मौके है। अगर आप सही जगह से इस बिजनेस को चलाते है और प्रोडक्शन बड़ी मात्रा में करते हैं तो लाभ होना पक्का है।

उदाहरण के लिए: आप बिना सुगंध वाली अगरबत्ती (Agarbatti without scent) का उत्पादन कर सकते हैं और उन्हें होलसेल बाजार में बेच सकते हैं। कच्ची अगरबत्ती के उत्पादन में प्रॉफिट का मार्जिन लगभग 13-15 रुपये प्रति किलोग्राम है।

अगर आप एक दिन में 100 किलोग्राम अगरबत्ती का उत्पादन करते हैं तो एक दिन का कुल लाभ 1500 रुपए होगा। इस तरह का उत्पादन 30 दिनों तक करने पर आपको 45,000 रुपए महीने का मुनाफा हो सकता है।

सुगंधित अगरबत्ती (Scented Agarbatti) का लाभ इससे कहीं अधिक होता है और यह लगभग 20 रुपये प्रति किलोग्राम में बिकता है।

Reference:

Udyam Registration Portal: https://udyamregistration.gov.in/Government-India/Ministry-MSME-registration.htm

अन्य लेख पढ़े: